पेंगुइन के बारे में जानकारी – Penguins In Hindi

तो दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से आज हम बात करने वाले हे पेंगुइन पक्षी के बारे में जो एक बहुत ही सुन्दर जलीय पक्षी हे जिनका इंग्लिश नाम Penguins Bird हे। ये पक्षी अपने जीवन का आधा समय धरती पर और आधा समय पानी में बिताते हे तो चलो दोस्तों पेंगुइन पक्षी के बारे में और भी अधिक जानकारी को हम देख लेते हे। 10 Lines On Penguin In Hindi

पेंगुइन की जानकारी – Penguins In Hindi

1 . तो दोस्तों सबसे पहले हम बात करने वाले हे की पेंगुइन पक्षी का वैज्ञानिक नाम क्या हे? तो इस पक्षी का वैज्ञानिक नाम Spheniscidae हे। 

2 . वैज्ञानिको के मत अनुसार पेंगुइन की 17 प्रजाति पाई जाती हे जिनमें से 13 प्रजातियां विलुप्त के कगार पर हे। 

3 . पेंगुइन एक प्राचीन प्रजाति हे जो करीब 40 करोड़ साल से पृथ्वी पर आई हे।

4 . पेंगुइन पक्षी भी कीवी और एमु की तरह ही एक उड़ान रहित पक्षी हे जो केवल दक्षिणी गोलार्ध में विशेष कर अंटार्कटिक में पाए जाते हे जो दक्षिणी गोलार्ध का मूल निवासी पक्षी भी हे। 

5 . पेंगुइन एक मांसाहारी पक्षी हे जिनका मुख्य खोराक छोटी मछलिया , छोटे जलीय जंतु , केकड़े और झींगा होता हे। पेंग्विन पक्षी के बारे में

6 . ज़्यादातर ये पक्षी अंटार्कटिक , दक्षिण अमेरिका , दक्षिण अफ्रीका , चिली, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में पाए जाते हे। 

7 . पेंगुइन पक्षी अपने भोजन को खाने के लिए अपनी चोंच का उपयोग करते हे यानिकि पेंगुइन पक्षी के पास दांत नहीं होते। 

8 . नर पेंगुइन को cock मादा को hen जबकि उनके बच्चे को chick कहा जाता हे। 

9 . पेंगुइन एक सामाजिक पक्षी हे जो समहू में रहते हे समूह में शिकार करते हे और समूह में प्रजनन भी करते हे। 

10 . जब इस पक्षी के पंख नष्ट हो जाते हे तब ये पक्षी ज़मीन पर रहते हे क्योकि उस समय ये पक्षी पानी में तैरने के लिए असमर्थ होते हे लेकिन जैसे ही कुछ हफ्तों के बाद उनके पंख आते हे तब वो फिर से पानी में रहने लगते हे। 

11 . बड़े पेंगुइन अक्शर ठंडे क्षेत्रों में रहते हे जबकि छोटे पेंगुइन गर्म और उष्णकटिबंधीय जलवायु में पाए जाते हे। 

12 . पेंगुइन के झुंडो में करीब 200 से 1000 तक की संख्या पाई जाती हे जबकि उनके समूह को रुकरी कहलाता हे। 

13 . ये पक्षी अपने अंडे पानी में नहीं बल्कि धरती पर देते हे और उनके अंडो की संख्या करीब दो से तीन ही होती हे और अंडो को सेहने की जिम्मेदारी नर की होती हे जो अपने नर्म पैरो से अंडे को गर्म रखता हे। 

14 . पेंगुइन के बच्चे जब तक पानी के तैरने के लिए समर्थ नहीं होते तब तक वो ज़मीन पर ही रहते हे।

15 . ये पक्षी इंसानों के बिच अपने आपको सुरक्षित महसूस करते हे जिसकी वजह से वो हम इंसानो से डरते नहीं हे। 

16 . पेंगुइन पक्षी के काले और सफ़ेद बाल होते हे जबकि इस पक्षी के पंख ही उनके हाथ बन गए हे जो उनके तैरने में सहायक होते हे।

17 . ये पक्षी बर्फ में एक जगह से दुसरी जगह जाने के लिए अपने पेट को बर्फ पर फिसलता हुआ देखा गया हे। 

18 . पेंगुइन पक्षी का जीवनकाल करीब 15 से 20 साल का होता हे। 

पेंगुइन पक्षी के रोचक तथ्य – Penguins Bird Facts In Hindi

1 . क्या आपको पता हे की 25 अप्रैल दिन को World Penguin Day ( विश्व पेंगुइन दिवस ) मनाया जाता हे। 

2 . पेंगुइन की सबसे बड़ी प्रजाति एम्परर पेंगुइन हे जिनकी करीब एक मीटर ऊंचाई और वजन 35 किलोग्राम तक होता हे जबकि सबसे छोटी प्रजाति लिटिल ब्लू पेंगुइन हे जिनको फेयरी पेंगुइन के नाम से भी जाना जाता हे जिनकी ऊंचाई करीबन 40 सेमि और उनका वजन करीब एक किलोग्राम के आसपास होता हे। 

3 . मादा पेंगुइन के बारे में सबसे रोचक बात ये हे की जब मादा पेंगुइन अपने चूजे को खो देती हे तब वो मादा पेंगुइन कभी कभी दूसरी मादा के चूजों को भी चुराने का प्रयास करती हे। 

4 . ये पक्षी अपना आधा जीवन पानी में और आधा जीवन धरती पर बिताता हे। 

5 . कभी कभी पेंगुइन पक्षी कंकड़ को भी निगल जाते हे जो उनको भोजन पचाने में और पानी में गहराइयों में जाने के लिए आवश्यक भार प्रदान करता हे। 

6 . पेंगुइन पक्षी के पास विशेष प्रकार की ग्रंथि होती हे जो रक्तप्रवाह से नमक को छानने का काम करती हे जिससे वो खारा पानी पि सकता हे। 

7 . पेंगुइन पक्षी ज़मीन की तुलना में पानी में देखने की क्षमता अधिक होती हे। 

8 . ये पक्षी एक दूसरे के साथ संवाद करने के लिए तरह – तरह की आवाज निकालते हे। 

9 . पेंगुइन पक्षी पानी के अंदर करीब 10 से 15 मिनिट तक बिना साँस लिए रह सकता हे। 

10 . ये पक्षी पानी के अंदर करीब 15 KM प्रति घंटे की रफ़्तार से तैर सकते हे जबकि Gentoos नामकी पेंगुइन की एक प्रजाति जो 32 किमी प्रति घंटे की रफ़्तार से तैर सकती हे। 

11 . धरती पर पेंगुइन करीब चार से पांच फिट ऊँचा कूद सकता हे। 

12 . पेंगुइन पक्षी अपने जीवन का 75 प्रतिशत शिकार पानी में ही करते हे। 

13 . पेंगुइन पक्षी की अब तक की सबसे बड़ी कॉलोनी दक्षिण सैंडविच द्रीप समूह के Zavodovski island में देखि गई थी जिनकी संख्या करीब दो लाख के आसपास थी। 

पेंगुइन के बारे में सबंधित सवाल

पेंग्विन की सबसे बड़ी प्रजाति का नाम क्या हे?

पेंग्विन की सबसे बड़ी प्रजाति का नाम एम्परर पेंग्विन हे जो करीब एक मीटर ऊंचाई और 35 किलोग्राम तक वजन होता हे जबकि सबसे छोटी प्रजाति लिटिल ब्लू पेंग्विन हे। 

पेंग्विन क्या खाता हे?

पेंग्विन एक मांसाहारी पक्षी हे जो छोटी मछलिया , छोटे जंतु , केकड़े और झींगा खाते हे।

तो दोस्तों अगर आपको पेंग्विन की जानकारी पसंद हे तो आप इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ भी सेर करे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *