रातरानी के फूल पौधे की जानकारी – Ratrani In Hindi

तो दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से आज हम बात करने वाले हे रातरानी के बारे में जिनका इंग्लिश नाम Night-blooming jasmine हे। रातरानी का पौधा अपने फूलो की खुश्बू की वजह से जाना जाता हे या प्रचलित हे ये एक सदाबहार पौधा हे जिनको कई लोग उनकी खुश्बू की वजह से अपने आँगन में भी लगाते हे तो चलो दोस्तों रातरानी के फूल , पौधे और उनके फ़ायदे के बारे में हम जान लेते हे। रातरानी की जानकारी

Raatrani Information In Hindi

रातरानी का पौधा – Night -blooming jasmine plant in hindi

1 . तो दोस्तों सबसे पहले हम बात करने वाले हे की रातरानी का वैज्ञानिक नाम क्या हे ? तो इस पौधे का वैज्ञानिक नाम cestrum nocturnum हे। 

2 . रातरानी का पौधा उनके फूलों की रात के दौरान सुगंध की वजह से जाना जाता हे। 

3 . इस पौधे का नाम रातरानी इसलिए हे क्योकि इस पौधे के फूल रात के दौरान ही खिलते हे जबकि दिन में मुरझा जाते हे। 

4 . अगर हम रातरानी पौधे की ऊंचाई के बारे में बात करे तो आमतौर पर उनकी ऊंचाई पांच से छ फिट होती हे लेकिन वो 10 से 12 फिट तक भी जा सकती हे जबकि रातरानी पौधे की फैलाव 6 फिट तक होता हे।

5 . रातरानी को उसके दूसरे नाम चाँदनी से भी जाना जाता हे। 

6 . इस पौधे के आधारित ऐसी भी मान्यता हे की इस पौधे को लगाने से सांप आते हे। 

7 . रातरानी पौधे की पत्तिया हरे रंग की सरल , संकीर्ण , लम्बी , चिकनी एवंम चमकदार होती हे। 

8 . रातरानी के पौधे को शुभ माना जाता हे इसलिए इस पौधे को घर में रखने की सलाह वास्तु शास्त्र में दी गई हे यानिकि वास्तु शास्त्र के अनुसार अगर आपके घर में रातरानी का पौधा हे तो घर में शांति बनी रहती हे और वास्तु दोष भी दूर होता हे। इस पौधे को आप अपने घर में किसी भी कोने में लगा सकते हे।

9 . रातरानी का पौधा मूल वेस्ट इंडीज का पौधा हे।

10 . रातरानी चमेली कुल का पौधा हे।

रातरानी फूल की सामान्य जानकारी 

1 . रातरानी के फूल सफ़ेद रंगो में होते हे। 

2 . रातरानी के पौधे पर पूर्णिमा के दिन इस पर फूल पूरी तरह से खिलते हे जबकि अमावस्या के दिन फूल नहीं खिलते। 

3 . रातरानी के फूलो में से गजब की खुश्बू होती हे जो रात के दौरान आसपास के वातावरण को  सुगंधमय बना देती हे। 

4 . इस पौधे पर छोटे – छोटे फूल गुच्छे में लगते हे। 

5 . एक साल में रातरानी के फूल करीब पांच से छ बार आते हे। 

6 . रातरानी के फूलो की खुश्बू से कई लोग इस पौधे को अपने घर में और बगीचे में भी लगाते हे। 

रातरानी का पौधा कैसे लगाए?

रातरानी का पौधा लगाना बहुत ही आसान होता हे और रातरानी का पौधा किसी भी मिट्टी में लग जाते हे। 

रातरानी की कलम लगाना बीज लगाने से ज्यादा आसान होता हे यानिकि आप इसकी 6-7 इंच की कलम को लेकर मिट्टी और खाद्य भरे हुए गमले में लगा सकते हे। 

अगर आपको एक से ज्यादा रातरानी का पौधा लगाने हे तो आप कम से कम तीन फिट का अंतर जरूर रखे।

रातरानी पौधे की देखभाल कैसे करे?

रातरानी के पौधे की देखभाल करने के खास आवश्यकता नहीं होती लेकिन आपको ये बाते ध्यान में जरुरी हे। 

रातरानी के पौधे को आप ऐसे स्थान पर रखे जहाँ कम धुप वाले स्थान पर रखे यानिकि अधिक या सीधे प्रकाश में रखने से पौधे की पत्तिया पिली हो जाती हे या पौधा सुख भी जा सकता हे। 

इस पौधे को योग्य पानी डाले। सुबह और श्याम रातरानी के गमले में पानी डालना चाहिए। पौधे में ज्यादा पानी डालने से रातरानी के जड़ सुख जाते हे। 

रातरानी के फ़ायदे – Benefits Of Ratrani In Hindi

1 . रातरानी के फूलो से बनने वाला इत्र सूंघने से या लगाने से मानसिक तनाव दूर होता हे। 

2 . रातरानी के फूल की सुगंद से तनाव , टेंसन ,डर और घभराहट भी कम होती हे। 

3 . नहाते ते समय रातरानी के फूलों को पानी में डाल दे फिर उस पानी से रोज़ नहाने से आपके शरीर से पसीने की दुर्गंद दूर होती हे। 

4 . रातरानी का पौधा घर में लगाने से वास्तु दोष दूर और शांति बनी रहती हे। 

ये भी पढ़े। ..

गुड़हल का फूल 

गुलबहार का फूल 

तो दोस्तों अगर आपको रातरानी की जानकारी पसंद हे तो आप इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ भी सेर करे। 

2 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *