ASHWAGANDHA IN HINDI

Ashwagandha Information In Hindi – अश्वगंधा की जानकारी

दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से आज हम अश्वगंधा के बारे में बात करने वाले हे। अश्वगंधा एक प्रकार की औषधीय वनस्पति हे जिनका इस्तमाल कई सालो से होता आ रहा हे। अश्वगंधा एक दिबीज पत्रीय पौधा हे। कई सरे रोगों के इलाज में इस औषधीय का इस्तमाल किया जाता हे। तो चलो अश्वगंधा के बारे में और भी जानकारी और उनके फ़ायदे देख लेते हे।

Ashwagandha Plant In Hindi

1 . अश्वगंधा एक पौधा (क्षुप) हे जो विदानिया कुल से सबंध रखता हे। और विदानिया की पूरी दुनिया में 10 और भारत में करीब दो प्रजातियां पाइ जाती हे।

2 . अश्वगंधा का ज्यादातर उपयोग औषधीय में किया जाता हे। और उनका वैज्ञानिक नाम Withania Somnifera हे। 

3 . इस पौधे की पत्तिया और जड़ों से घोड़े की मूत्र जैसी गंध आने की वज़ह से इस पौधा का नाम अश्वगंधा रखा गया हे। 

4 . ये पौधा अफ़्रिका , भारत , पाकिस्तान , जॉर्डन और श्रीलंका में पाया जाता हे। और अगर हम भारत की बात करे तो मध्यप्रदेश , पंजाब , गुजरात , राजस्थान और हिमाचल प्रदेश में अश्वगंधा पौधे की खेती की जाती हे। और भारत में अश्वगंधा की जड़ों का उत्पादन प्रति साल करीब दो हजार टन हे।

5 . अश्वगंधा के फूल हरे पिले रंग के होते हे। और इस पौधे पर फ़रवरी से लेकर मार्च तक फूल और फल आना शरू होता हे। और ये पौधा करीब 35 – 70 सेमि तक लम्बा होता हे।

6 . इस पौधे का फल पकने पर लाल रंग के हो जाते हे।

7 . इस पौधे की पत्तिया करीब 1.25 मीटर लम्बे होते हे और अंडाकार , रोमयुक्त होती हे।

8 . ये पौधा सूखे क्षेत्रों में ज्यादा पाए जाते हे।

9 . ये पौधे समुद्र से करीब 1500 मीटर तक की ऊंचाई के भीतर ज़मीन पर उगाया जाता हे। 

अश्वगंधा के फ़ायदे :

1 . कैंसर के दर्दी के लिए अश्वगंधा बहुत लाभकारी होती हे क्योकि ये कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोकती हे।

2 . अश्वगंधा के सेवन से इन्सान के दिमाग़ में पैदा होने वाले तनाव और चिंता को दूर करता हे।

3 . इसके सेवन से रोगप्रतिकारक शक्ति बढ़ती हे जिनकी वज़ह से कई सारे रोगों से लड़ने की हमें क्षमता मिलती हे।

4 . नियमित रूप से अश्वगंधा का सेवन से मांसपेशिया मजबूत होती हे।

5 . जिस इंसान को अनिद्रा की समस्या हो उनके लिए अश्वगंधा का सेवन करना फायदेमंद होता हे।

6 . अश्वगंधा में पाए जाने वाले अल्कालॉयड और सैपोनिंस की मात्रा ज्यादा होने की वज़ह से कई दर्द और जकड़न को दूर करता हे।

7 . नियमित रूप से अश्वगंधा का सेवन करने से दिमाग़ स्वाथ्य रहता हे और आप टेंसन मुक्त रहते हे।

8 . अश्वगंधा से थाईराइड ग्रंथिया उत्तेजित होती हे।

9 . डायबिटीज के दर्दी के लिए नियमित रूप से अश्वगंधा का सेवन लाभदायी होता हे।

10 . अगर आप अश्वगंधा के चूर्ण को सुबह और शाम एक चम्मच पानी के साथ लेने से आँखो की रोशनी बढ़ती हे।

11 . अश्वगंधा में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेड हदय से जुड़ी तमाम बिमारियों से बचने में सहाय करती हे।

अश्वगंधा के नुकशान

आमतौर पर इस औषधिसे कोइ प्रकार का नुकसान नहीं होता। लेकिन विपुल मात्रा में इसका सेवन करने से पेट दर्द , उलटी और डायरिया जैसी बीमारिया होती हे। इसलिए सही मात्रा में इस औषधिका सेवन करना चाहिए। 

गर्भवती महिलाओ को अश्वगंधा का सेवन करना नहीं चाहिए और अगर ऐसा करने से गर्भ का नाश होता हे।

अगर आपको ये आर्टिकल पसंद हे तो आप इस आर्टिकल को सेर करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *