औषधिय गुणों से भरपूर हे रसभरी – Rasbhari In Hindi

दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से आज हम औषधिय गुणों से भरपूर रसभरी के बारे में बात करने वाले हे जिनको अंग्रेजी भाषा में Cape gooseberry कहते हे। रसभरी अनेक पोषकतत्वों से भरपूर होती हे। केप गूसबेरी दिखने में एक छोटा सा पौधा हे। तो चलो दोस्तों केप गूसबेरी के बारे में और भी अधिक जानकारी और उनके फल के सेवन से हमें क्या फायदे होते हे ये भी जान लेते हे। Rasbhari In Hindi

रसभरी के बारे में जानकारी – Cape Gooseberry In Hindi

1 . रसभरी पौधे का वैज्ञानिक नाम Physalis Peruviana हे। 

2 . रसभरी के ऊपर पतला सा आवरण ढका हुआ होता हे। और वो पिले रंग की होती हे।

3 . रसभरी स्वाद में जीतनी मीठी हे उतनी हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक भी होती हे। 

4 . क्या आपको पता हे की रसभरी को ” मकोय ” के नाम से भी जाना जाता हे। जबकि उनको रास्पबेरी के नाम से भी जाना जाता हे। 

5 . रसभरी का पौधा किसानो के लिए शत्रु के समान होता हे क्योकि अधिक मात्रा में ये खेत में उगने से फसलों के लिए मुश्किलें पैदा करते हे। Cape Gooseberry In Hindi

6 . रसभरी की पत्तिया में कैल्शियम , फॉस्फोरस , मेग्नेशियम , विटामिन A , C आदि तत्व पाए जाते हे जो हमारे शरीर स्वास्थ्य के लिए बहुत ही उपयोगी साबित होते हे। 

7 . रसभरी का पौधा जंगली घास के बिच या खेतों में अपने आप ही उग जाते हे।

8 . अगर हम इस पौधे की ऊंचाई के बारे में बात करे तो ये करीब एक से दो मीटर तक की होती हे।

Rasbhari ki janakaari

रसभरी के फायदे – Benefits Of Rasbhari In Hindi

1 . रसभरी की पत्तिया को पीसकर दो चम्मच पानी के साथ उसका सेवन करने से पीलिया की बीमारी में आराम मिलता हे।

2 . रसभरी में पाए जाने वाले पॉलीफिनॉल केरिडीनॉयड्स जो कैंसर से लड़ने में सहाय होता हे। 

3 . गठिया रोग के लिए रसभरी फायदेमंद साबित होती हे। 

4 . रसभरी उदर रोगो के लिए जिनमें मुख्य यकृत के लिए बहुत ही लाभकारी होती हे।

5 . रसभरी के पौधे की पत्तिया का काढ़ा पिने से पाचन शक्ति अच्छी होती हे।

6 . अगर सूजन वाली जगह पे रसभरी के पौधे का पेस्ट लगाने से सूजन दूर होती हे।

7 . केप गूसबेरी की पत्तिया काढ़ा बनाकर पिने से बाबासीर में लाभ होता हे। 

8 . रसभरी का चूर्ण श्वास , खांसी के लिए बहुत ही लाभदायक होता हे।

9 . डायबिटीज के दर्दियो के लिए रसभरी का सेवन करना फायदेमंद साबित होता हे।

10 . रसभरी में पाए जाने वाले विटामिन A आँखों के लिए बहुत ही लाभदायी होता हे।

11 . रसभरी के सेवन से हमारी हड्डिया मजबूत होती हे।

12 . अगर आपको हाईब्लड़ प्रेसर की समस्या हे तो आपको रसभरी का सेवन करना चाहिए क्योकि रसभरी के सेवन से हाईब्लड़ प्रेसर कम होता हे।

13 . रसभरी के सेवन से रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित होता हे जिनकी वजह से डायबिटीज की संभावना कम होती हे। 

14 . रसभरी में पाए जाने वाले फाइटोकेमिकल्स जो दिल सबंधित बीमारियों के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होते हे। 

15 . रसभरी के सेवन से हमारी रोग – प्रतिकारक शक्ति बढ़ती हे।

16 . रसभरी कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखता हे।

17 . रसभरी हमारी इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में सहायक होती हे।

सूचना : सिर्फ पकी रसभरी ही खानी चाहिए बिना पकी रसभरी ज़हरीली भी हो सकती हे।

ये भी पढ़े। …

रातरानी पौधे की जानकारी 

लाजवंती की जानकारी 

अगर आपको ये आर्टिकल पसंद हे तो आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ भी सेर करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *