गुग्गुल के बारे में सामान्य जानकारी और फ़ायदे

तो दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से आज हम बात करने वाले हे गुग्गुल या गुग्गल के बारे में जो एक प्रकार का वृक्ष हे। जिसमे से प्राप्त पदार्थ को गुग्गल कहा जाता हे आयुर्वेद के अनुसार गुग्गल का धुप कफ , वात , कृमि और अर्श नाशक होता हे यानिकि गुग्गल से अनेक बीमारियों और रोगो के लिए असरकारक साबित होता हे तो चलो दोस्तों गुग्गुल के बारे में और भी अधिक रोचक जानकारी और उनके फायदे हम जान लेते हे। Guggul ke Fayade

अन्य भाषाओ में गुग्गुल के नाम

हिंदी गुग्गुल या गुग्गल
संस्कृत देवधुप , जटायु
तमिल मैशाक्षी
गुजराती गुगल
कनाटा गुग्गुल
मराठी गुग्गुल

गुग्गुल के बारे में सामान्य जानकारी

1 . गुग्गुल के दो प्रकार के वृक्ष पाए जाते हे जिसमे एक को कॉमिफ़ोरा मुकुल और दूसरे को कॉ.रॉक्सबधाई कहा जाता हे। 

2 . गुग्गुल अफ्रीका से लेकर मध्यएशिया में पाए जाते हे और अफ्रीका में पाए जाने वाली प्रजाति कॉमिफ़ोरा अफ्रिकाना कहलाती हे। 

3 . अगर हम भारत देश के बारे में बात करे तो भारत में गुग्गुल ज्यादातर राजस्थान , गुजरात , मध्य प्रदेश और कर्णाटक राज्यों में पाया जाता हे। 

4 . गुग्गुल का रंग पीला , लाल या सफ़ेद भी हो सकता हे।

5 . गुग्गुल के पेड़ से निकलने वाले गोंद ही गूगल नाम से जाना जाता हे जबकि आयुर्वेद में के मतानुसार ये कटु तिक्त और उष्ण होता हे 

6 . गुग्गुल एक मध्यम आकार का पेड़ हे जिनकी ऊंचाई के बारे में हम बात करे तो इस वृक्ष की ऊंचाई करीब तीन से चार मीटर के आसपास होती हे। 

7 . अगर आप गुग्गुल के तने को तोड़ते हे तो उसमें से सफ़ेद रंग का दूध निकलता हे जो की बहुत ही उपयोगी होता हे। 

8 . गुग्गुल का पेड़ एक विलुप्तावस्ता के कगार पर हे यानिकि भारत में गुग्गुल की मांग अधिक हे और गुग्गुल का उत्पादन बहुत ही कम हे जिसकी वजह से अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान से इसका आयात किया जाता हे।

9 . आयुर्वेद में इसके पांच भेद बताये हे जैसे की महिषाक्ष , महानील , कुमुद , पद्म और हिरण्य भेद हे।

10 . गुग्गुल एक पौधे का  राल हे जिसे कम्फोरा मुकुल के नाम से भी जाना जाता हे। इसकी शाखाये कांटेदार होती हे।  

Guggul ke fayade

गुग्गुल के फ़ायदे – Guggul Ke fayade

1 . कान में अगर बहबू निकलती की समस्या हे तो गुग्गुल के धुप से धूपन करने से कान से बदबू निकलना कम होता हे। 

2 . डायबिटीज के दर्दियो के लिए गुग्गुल बहुत ही फायदेमंद साबित होता हे यानिकि गुग्गुल इंसुलिन के प्रोडक्शन को सही करने का काम करता हे। 

3 . गुग्गुल ब्लड शुगर को नियंत्रित करता हे। 

4 . अगर आपको एसिडिटी की समस्या हे तो आप एक चम्मच गुग्गुल का चूर्ण को कप में पानी के साथ मिलाकर रख लो फिर उसके बाद इस मिश्रण का सेवन करने से एसिडिटी की समस्या ख़त्म हो जाती हे। 

5 . सुबह और शयाम एक चम्मच गुग्गुल के चूर्ण को गुनगुने पानी के साथ लेने से सूजन , दर्द और हड्डिया जोड़ने में मदद करता हे। 

6 . मुंह में छाले होने पर गुग्गुल को मुँह में रखे या फिर पानी में भिगोकर उस पानी से दिन में चार से पांच बार कुल्ला करने से मुँह के छाले ठीक हो जाते हे। 

नोध : अगर आपको कोई अन्य बीमारी हे तो पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर ले उसके बाद ही गुग्गुल का सेवन करे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *