ईसबगोल के बारे में जानकारी और फ़ायदे

तो दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से आज हम बात करने वाले हे एक आयुर्वेदिक पौधे ईसबगोल के बारे में जिनका अंग्रेजी नाम साइलियम हस्क हे। प्राचीन समय के लोगो को कब्ज की शिकायत होती तब वो ईसबगोल की भूसी का सेवन करते थे यानिकि प्राचीन काल से ईसबगोल को एक औषधि के रूप में माना गया हे तो चलो दोस्तों इसबगोल के बारे में जानकारी और उनके फायदे हम जान लेते हे।

Isabgol ke fayade

ईसबगोल के मुख्य दो प्रकार हे

  • ईसबगोल
  • जंगली ईसबगोल

ईसबगोल के बारे में सामान्य जानकारी

1 . इसबगोल का वैज्ञानिक नाम plantago Ovata हे। 

2 . ईसबगोल एक आयुर्वेदिक झाडीनुमा पौधा हे जो एक फारसी शब्द से निकलता हे जिनका अर्थ होता हे ” घोड़े का कान ” 

3 . ऐसा माना जाता हे की ईसबगोल पौधे की उत्पतिस्थान मिस्र और ईरान हे। 

4 . ईसबगोल पौधे पर छोटे फूल और लम्बी पत्तिया होती हे इसबगोल पर बीज लगते हे उन पर सफ़ेद झिल्ली होती हे जिससे सफ़ेद ईसबगोल कहा जाता हे। 

5 . ईसबगोल नाम क्यों पड़ा ? तो ऐसा माना जाता हे की ईसबगोल के बीज का आकर या उनकी पत्तियों का आकर घोड़े के कान जैसा होता हे इसलिए ईसबगोल कहा जाता हे।

6 . क्या आपको मालूम हे की भारत ईसबगोल का सबसे बड़ा उत्पादक हे। 

7 . भारत में सबसे अधिक ईसबगोल का उत्पादन गुजरात , राजस्थान और मध्य – प्रदेश जैसे राज्यों में होता हे।

8 . आप जानकर हैरान होंगे की पूरी दुनिया में ईसबगोल के कुल उत्पादन का करीबन 35 प्रतिशत हिस्सा केवल भारत के गुजरात (उत्तर गुजरात ) राज्य में होता हे। 

9 . अगर हम ईसबगोल पौधे की ऊंचाई के बारे में बात करे तो ये पौधा करीब एक मीटर ऊँचा होता हे। 

इसबगोल खाने के फायदे 

1 . ईसबगोल की भूसी का उपयोग कब्ज में राहत पाने के लिए किया जाता हे। 

2 . जंगली ईसबगोल के पत्तो का काढ़ा बनाकर खुजली वाले स्थान पर लगाने से खुजली की समस्या ठीक होती हे। 

3 . ईसबगोल के बीजो को भूनकर खाने से पेचिस ठीक होता हे। 

4 . 15 – 20 मिली ईसबगोल के काढ़े को पिने से कफ़ और जुकाम में लाभ होता हे। 

5 . एक से दो बून्द जंगली ईसबगोल के पत्तो का रस कान में डालने से कान के दर्द में आराम मिलता हे। 

6 . इसबगोल में पाए जाने वाला फाइबर जो कब्ज के लिए बहुत ही लाभदायक साबित होता हे। 

7 . रात के दौरान सोने से पहले ईसबगोल का सेवन पानी के साथ करने से बवासीर ठीक करने में मदद मिलती हे। 

8 . पैशाब सबंधी समस्या हे तो तीन से चार चम्मच इसबगोल का सेवन करने से लाभ होता हे। 

9 . प्रतिदिन भोजन से पहले गर्म दूध के साथ ईसबगोल का सेवन करने से पाचनतंत्र दुरुस्त करता हे। 

10 . जोड़ो का दर्द , दांतो का दर्द में भी ईसबगोल का सेवन करने से लाभ होता हे। 

11 . ईसबगोल का काढ़ा बनाकर पिने से कफ़ निकलने में आसानी होती हे। 

12 . वजन कम करने में भी इसबगोल मददगार साबित होता हे। 

13 . ईसबगोल ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखने में सहायक होता हे।

ईसबगोल के नुकशान 

  • ईसबगोल का अधिक सेवन करने से ब्लड प्रेसर लो हो सकता हे।
  • दस्त की समस्या भी हो सकती हे।
  • इसबगोल का इस्तमाल करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर ले।

ये भी पढ़े। ..

चावल के बारे में जानकारी 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *