कस्तूरी मृग – Musk Deer Information In Hindi

 तो दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से आज हम बात करने वाले हे एक अनोखे प्राणी कस्तूरी मृग के बारे में जो अपनी सुंदरता के लिए नहीं बल्कि अपने नाभि में मौजूद कस्तूरी की वज़ह से जाना जाता हे। कस्तूरी मृग को इंग्लिश में Musk Deer कहा जाता हे ये एक शर्मिला जानवर हे। तो चलो दोस्तों कस्तूरी मृग के बारे में और भी अधिक रौचक और दिलचस्प जानकारी को हम देख लेते हे। Musk Deer In Hindi

Musk deer in hindi

कस्तूरी मृग के बारे में जानकारी

1 . तो दोस्तों सबसे पहले हम बात करने वाले हे कस्तूरी मृग के वैज्ञानिक नाम के बारे में तो इस प्राणी का वैज्ञानिक नाम ” मॉस्कस क्राइसोगास्ट ” हे। 

2 . कस्तूरी मृग को ” हिमालयन मस्क डीअर ” के नाम से भी जाना जाता हे। 

3 . उत्तराखंड में पाए जाने वाला कस्तूरी मृग कुदरत के सुन्दरतम जीवों में से एक हे। 

4 . कस्तूरी मृग एक स्तनधारी जानवर हे जो मोशीडे परिवार से सबंध रखता हे। 

5 . कस्तूरी मृगो की करीब चार प्रजाति पाइ जाती हे और वो सब देखने में एक जैसी ही दिखती हे। 

6 . इस जानवर के पास एक बालविहीन पूंछ भी होती हे जो नाममात्र को ही होती हे।

7 . कस्तूरी मृग के पास चार पैर जो लम्बे और पतले होते हे लेकिन कस्तूरी मृग के पिछले पैर उनके आगे के पैर से अधिक लम्बे होते हे। जबकि उनके दो कान लम्बे और गोल आकर के होते हे। Musk Deer Information In Hindi

8 . इस जानवर के पेट और कमर का हिस्सा सफ़ेद रंग का होता हे जबकि शरीर कत्थई भूरे रंग का होता हे।

9 . कस्तूरी मृग के शरीर पर बहुत सारे घने बाल होते हे जो दिखने में कठोर होते हे लेकिन स्पर्श करने पर बहुत मुलायम होते हे।

10 . कस्तूरी मृग की एक सबसे खास बात ये हे की ये जानवर अपने खोराक के लिए बहुत दूर निकल जाता हे लेकिन वो वापस अपनी रहने की जग़ह पर ही लौट आता हे।

11 . अगर हम कस्तूरी मृग के खोराक के बारे में बात करे तो ये जानवर लीला घास , फूल , पत्तिया, जड़ी बूटियाँ उनका मुख्य खोराक हे।

12 . ये जानवर ज़्यादातर एकांत में ही और अकेले ही रहना पसंद करता हे।

13 . कस्तूरी मृग जानवर की नाभि में मिलने वाली कस्तूरी ही इस जानवर के मौत का कारण भी बन सकती हे। दरियाई घोड़े की रोचक जानकारी

14 . में आपको एक बात बता दू की कस्तूरी केवल नर मृग में ही पाइ जाती हे।

15 . कस्तूरी मृग का वज़न करीब 13 से लेकर 15 किलोग्राम के आसपास रहता हे। 

16 . इस जानवर के पास सूंघने की शक्ति बहुत तेज़ होती हे लेकिन सुनने की शक्ति कम होती हे। 

17 . कस्तूरी मृग की नाभि में पाइ जाने वाली कस्तूरी का इस्तमाल औषधि के रूप में दवाएं बनाने में की जाती हे। 

18 . कस्तूरी मृग एक तेज़ गति से भागने वाला जिव हे लेकिन ये जानवर दौड़ते समय पीछे मुड़कर देखने की उसकी आदत ही इस जानवर के मौत का कारण बनता हे।

19 . क्या आपको पता हे की कस्तूरी मृग उत्तराखंड का राज्य वन्य पशु हे।

20 . ये जानवर उत्तराखंड के आलावा हिमाचल प्रदेश , कश्मीर और सिक्किम में भी पाए जाते हे।

21 . ये जानवर अपना रास्ता कभी नहीं भूलता। यानिकि इस जानवर की याददास्त शक्ति बहुत तेज़ होती हे।

22 . ये एक संकटग्रस्त जानवर हे। 

23 . कस्तूरी मृग का जीवनकाल करीब दस साल के आसपास होता हे। Essay On Musk Deer In Hindi

ये भी पढ़े। .

छिपकली की रोचक जानकारी 

कस्तूरी मृग के बारे में सबंधित सवाल

कस्तूरी क्या काम आती हे?

कस्तूरी दुनिया के सबसे महंगे पशु उत्पादो में से एक हे जिसमे से तीक्ष्ण गंध होती हे जो नर कस्तूरी मृग के नाभि वाली ग्रंथि से प्राप्त होती हे जिनका उपयोग प्राचीन समय से इत्र के लिए एक लोगप्रिय रासायनिक प्रदार्थ के रूप में इस्तमाल किया जाता हे।

कस्तूरी की कीमत क्या हे?

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कस्तूरी की कीमत प्रति सौ ग्राम 50 हजार डॉलर ($) हे। 

कस्तूरी कहा पाई जाती हे?

कस्तूरी नर कस्तूरी के नाभि में पाई जाती हे जिसके लिए कई लोग इसका शिकार करते हे।

कस्तूरी का अर्थ क्या हे? 

कस्तूरी का हिंदी में मतलब एक प्रसिद्ध सुगन्धित प्रदार्थ होता हे जो नर कस्तूरी मृग की नाभि में से पाया जाता हे जिससे सुगंधित द्रव्य जैसे इत्र बनाये जाते हे।

  तो दोस्तों अगर आपको ये आर्टिकल पसंद हे तो आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ भी सेर करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *