पारिजात के बारे में जानकारी और फायदे

तो दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से आज हम बात करने वाले हे पारिजात के बारे में जिनको अंग्रेजी में Night-Flowering jasmine कहा जाता हे। पारिजात को एक प्रवित्र वृक्ष माना जाता हे पारिजात को उसने दूसरे नाम हरसिंगार से भी जाना जाता हे कई लोग इस पौधे को अपने आंगन में या बगीचे में शोभा बढ़ाने के हेतु से लगाते हे तो चलो दोस्तों पारिजात के बारे में और भी अधिक जानकारी को हम पढ़ लेते हे। Parijat ke fayade

Parijaat ke fayade

अन्य भाषा में पारिजात के नाम : 

संस्कृत में शेफालिका
हिंदी में पारिजात , हरसिंगार
मराठी में पारिजातक
तेलुगु में पारिजातमु , सेयाली
मलयालम परिजातकोय
उर्दू में गुलज़ाफ़री
कन्नड़ पारिजात

पारिजात के बारे में सामान्य जानकारी

1 . तो दोस्तों सबसे पहले हम बात करने वाले हे की पारिजात का वैज्ञानिक नाम क्या ह ? तो पारिजात का वैज्ञानिक नाम Nyctanthes arbor-tristis हे। 

2 . पारिजात एक झाडीनुमा पौधा हे जिस पर सुन्दर और सुगन्धित फूल लगते हे। 

3 . प्राचीन मान्यता के अनुसार पारिजात वृक्ष को स्वर्ग में से धरती पर लाया गया था। 

4 . पारिजात के फूल लक्ष्मी पूजन के लिए अधिक इस्तमाल किये जाते हे। 

5 . पारिजात के फूल बहुत ही आकर्षित और मनमोहक होते हे जिनकी सुगंन्ध मन मस्तिक को शांत करती हे। 

6 . पारिजात के फूल रात के दौरान ही खिलते हे जबकि दिन में वो मुरझा जाते हे। 

7 . ऐसा माना जाता हे की जिसके घर में पारिजात खिलते हे वहा सुख शांति और समुद्री का निवास होता हे। 

8 . पारिजात के फूल सफ़ेद रंग के होते हे और उनके मध्यम में केसरी गोल निशान होता हे। 

9 . अगर हम पारिजात वृक्ष की ऊंचाई के बारे में बात करे तो करीब 10 से 15 फिट ऊँचा होता हे। 

10 . पारिजात के फूल , पत्ते और छाल का इस्तमाल औषधि के रूप में किया जाता हे। 

11 . क्या आपको मालूम हे की ये पश्चिम बंगला का राजकीय पुष्प भी हे। 

12 . ऐसा माना जाता हे की पारिजात को छूने से भी व्यक्ति की थकान दूर हो जाती हे। 

13 . हरिवंशपुराण में इस पारिजात के फूल और वृक्ष का वर्णन किया गया हे। 

14 . ऐसा माना जाता हे की पारिजात वृक्ष की उत्पति समुद्र मंथन के दौरान हुई थी और इंद्र ने उसे अपनी वाटिका में रोप दिया था। 

15 . हमारे वर्त्तमान के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी राम मंदिर के परागण में पारिजात का पौधा लगाया हे। 

पारिजात के फायदे – Parijat Ke Fayade

1 . पारिजात के बीजो का पेस्ट बनाकर उसे सिर में लगाने से डैंड्रफ की समस्या ठीक हो जाती हे। 

2 . 500 मिग्रा पारिजात की छाल का चूर्ण बनाकर उसका सेवन करने से खांसी में लाभ होता हे।

3 . पारिजात के ताजे पत्ते को चीनी के साथ पारिजात के पत्तो का रस करीब पांच मिली सेवन करने से पेड़ के हानिकारक कीड़े ख़त्म हो जाते हे। 

4 . पारिजात के बीज का पेस्ट बनाकर घाव पर लगाने से घाव जल्दी भर जाता हे। 

5 . 10 से 30 मिली पारिजात के पत्तो का काढ़ा बनाकर पिने से डायबिटीज के रोग के लिए बहुत ही लाभदायक साबित होता हे। 

6 . अगर आपको नकसीर की परेशानी हे तो आप पारिजात की जड़ को मुँह में रहकर चबाए ऐसा करने से नाक कान से निकलने वाला खून बंध हो जाता हे। 

7 . 10 से 30 मिली पारिजात के पत्तो का काढ़ा बनाकर उनको पिने से शुगर कंट्रोल में होता हे।

नोधा।  अगर आपको कोई गंभीर बीमारी हे तो आप पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर ले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *