जल प्रदूषण क्या हे ? जल प्रदूषण के कारक और उपाय

तो दोस्त इस आर्टिकल के माध्यम से आज हम जल प्रदूषण के बारे में बात करने वाले जो वर्त्तमान समय में एक वैश्विक समस्या बन गई हे। आप सभी लोग जानते हे की हमारे जीवन में जल का कितना महत्त्व हे यानिकि जल हमारी मुलभुत अवश्क्ताओ में से एक हे और वही जल प्रदूषित हो जायेगा तो मानव जीवन, पशु ,पक्षी पर उसका क्या प्रभाव होगा ये आप सोच सकते हे इसलिए हमें जल प्रदुषण को रोचक लिए समाज को लोगो को जागृत करना होगा। Water Pollution In Hindi

जल प्रदूषण क्या हे ? जल प्रदूषण के कारक और उपाय

जल प्रदूषण क्या हे ?

  • वर्त्तमान समय में जल प्रदूषण एक वैश्विक समस्या बन गई हे जिसकी वजह से हर साल कई प्रकार की बीमारियों की वजह से कई मनुष्य , पशुओ और पक्षियों की मौत भी हो रही हे। शूद्र पानी में बिन जरुरी या विविध प्रकार के हानिकारक प्रदार्थ मिल जाने पर जल प्रदूषण होता हे।

जल प्रदूषण के कारक

1 . जल प्रदूषण का मुख्य कारक मानव और जानवरो की औधोगिक और जैविक क्रिया हे। 

2 . बारिश के जल में हवा में पाए जाने वाले गैस और धूल के कण पानी में मिल जाने से जल प्रदूषित होता हे। 

3 . नदिया , तालाब या सरोवरों में बर्तन , कपडे की धुलाई या मनुष्य फिर जानवरो के नहाने के साबुन से भी जल प्रदूषित होता हे।

4 . ज्यादातर डीजल प्रट्रोल की आयात और निकास समुद्र मार्ग से ही होती हे ऐसे में अगर कई बार जहाज रिसाव हो जाता हे जिसकी वजह से समुद्र जल प्रदूषित होता हे जो समुद्री जीवो के लिए एक गंभीर समस्या हे। 

5 . तेल का जहाज समुद्र में डूबने से भी जल प्रदूषण होता हे। 

6 . शहरों के बड़े बड़े कारखानों में ऐसे प्रदार्थ होते हे जिसे कारखानों में इस्तमाल नहीं किया जा सकता और उसे किसी और स्थान पर डालने के बजाय नदी में छोड़ दिया जाता हे जिसे जल प्रदुषण होता हे चीन जैसे देश के शहरों में करीब 90 प्रतिशत जल प्रदूषित होता हे।

7 . औधोगिकरण की वजह से कारखाना की संख्या प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही हे जिसे कारखाने के बिनजरुरी कचरे को तालाबों , नदिया में छोटा जा रहा हे जिसे जल प्रदूषण होता हे और ये एक गंभीर समस्या हे। क्या आप जानते हे की गंगा और यमुना भारत की सबसे प्रदूषित नदियों में से एक हे।

8 . बड़े शहरों में मल – मूत्र को भी नदियों में बहा दिया जाता हे। 

9 . कई बार अपने देखा होगा की नदियों में से मनुष्य का और प्राणियों के मृत भी मिल आते हे जिसे पानी में जीवाणु की संख्या में वृद्धि होती हे जिसे जल प्रदुषण होता हे और ऐसा प्रदूषित जल पिने से क्षय और पेचिस जैसे रोग पैदा होते हे।

10 . ग्लोबल वॉर्मिंग से भी जल प्रदूषण होता हे। 

जल प्रदूषण रोकने के उपाय

1 . पानी के संग्रह वाले स्थानों को साफ करना चाहिए। 

2 . गावो के विस्तार में पक्की नालियों की व्यवस्था नहीं होती जिसकी वजह से जल कही भी चला जाता हे और अंत में नदी में मिल जाता हे जिससे जल प्रदूषित होता हे। 

3 . कारखाने में पाए जाने वाले बिनजरूरी कचरे को सही जगह पर डालना चाहिए।

4 . पानी को शूद्र रखने के लिए रासायनिक प्रदार्थ जैसे की ब्लीचिंग पाउडर आदि का प्रयोग करना चाहिए।

5 . समुद्र में किये जाने वाले परमाणु परीक्षणों पर रोक लगानी चाहिए। 

6 . समाज में जल प्रदूषण की जाग्रति लानी चाहिए। 

7 . नालो , तालाबों और नदियों में गंदकी न फैलाए। 

8 . सार्वजनिक जल वितरण के साथ छेड़छाड़ न करे। 

9 . जल प्रदुषण सबंधी कानूनों का पालन करे।

10 . जल प्रदूषण की वजह से उत्पन होने वाले खतरों के बारे में लोगो को बताना चाहिए। 

11 . कार्बनिक प्रदार्थो के निष्पादन से पूर्व उनका ऑक्सीकरण किया जाये।

ये भी पढ़े। .

चांदी के बारे में जानकारी 

बादल क्या हे ? बादल के प्रकार और रोचक तथ्य

अगर आपको ये जानकारी पसंद हे तो आप इसे सेर करे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *